प्रतिज्ञा Suivre l’auteur


Histoire non vérifiée
d
divaswapna

पूनम अपने घर का काम निपटाकर रात को अपने कमरे में आती है और कमरे में आकर जैसे ही सामने बेड की तरफ देखती है तो , समझ जाती है के , आज भी रोज की तरह निशांत अपने स्टडी रूम में बैठकर शराब पी रहें होंगे । निशांत का हर रोज रात को यही काम होता था और शराब पीने के बाद निशांत को कोई होश ही नहीं रहता और सीधे बेड पर आकर सो जाते । पूनम के लिये अब यह सब असहनीय होता जा रहा था और वो निशांत की यह आदत छुडवाना चाहती थी इसीलिए पूनम पक्का इरादा कर लेती है और सुबह निशांत के उठते ही अपना सामान लेकर घर से जाने लगती है ।

  September 01, 2019, 15:02
AA Partager

Commentez quelque chose

0 Commentaires
Publier!
Il n’y a aucun commentaire pour le moment. Soyez le premier à donner votre avis!

Plus de microfictions