ajayamitabh7 AJAY AMITABH

मेरे जीवन में बहुत सारी ऐसी घटनाएँ घटती है जो मेरे ह्रदय को आंतरिक रूप से उद्वेलित करती है। मै बहिर्मुखी स्वाभाव का हूँ और ज्यादातर मौकों पर अपने भावों का संप्रेषण कर हीं देता हूँ। फिर भी बहुत सारे मुद्दे या मौके ऐसे होते है जहाँ का भावो का संप्रेषण नहीं होता या यूँ कहें कि हो नहीं पाता। यहाँ पे मेरी लेखनी मेरा साथ निभाती है और मेरे ह्रदय ही बेचैनी को जमाने तक लाने में सेतु का कार्य करती है।यहाँ पर मैं मेरी लेखनी द्वारा रचित छोटी छोटी कविताओं को प्रस्तुत कर रहा हूँ।


Poesía Sátira Todo público.

#Kavita, #Satire, #Hindi #Life #
0
1.5mil VISITAS
En progreso - Nuevo capítulo Cada 15 días
tiempo de lectura
AA Compartir

खबर

क्या खबर भी छप सकती है

फिर तेरे अखबार में

काम एक है नाम अलग बस

बदलाहट किरदार में।


अति विशाल हैं वाहन जिसके

रहते राज निवासों में

मृदु काया सुंदर आनन पर

आकर्षित लिबासों में ।


ऐसों को सुन कर भी क्या

ना सुंदरता विचार में

काम एक है नाम अलग बस

बदलाहट किरदार में।


रोज रोज का धर्मं युद्ध

मंदिर मस्जिद की भीषण चर्चा

वोही भिन्डी से परेशानी

वोही प्याज का बढ़ता खर्चा।


जंग छिड़ी जो महंगाई से

अब तक है व्यवहार में

काम एक है नाम अलग बस

बदलाहट किरदार में।


कुछ की बात बड़ी अच्छी

बेशक पर इनपे चलते क्या

माना की उपदेश बड़े हैं

पर कहते जो करते क्या ?


इनको सुनकर प्राप्त हमें क्या

ना परिवर्तन आचार में

काम एक है नाम अलग बस

बदलाहट किरदार में।


सम सामयिक होना भी एक

व्यक्ति को आवश्यक है

पर जिस ज्ञान से उन्नति हो

बौद्धिक मात्र निरर्थक है ।


नित अध्ययन रत होकर भी

है अवनति संस्कार में

काम एक है नाम अलग बस

बदलाहट किरदार में।


क्या खबर भी छप सकती है

फिर तेरे अखबार में

काम एक है नाम अलग बस

बदलाहट किरदार में।

7 de Mayo de 2021 a las 13:48 0 Reporte Insertar Seguir historia
0
Continuará… Nuevo capítulo Cada 15 días.

Conoce al autor

AJAY AMITABH Advocate, Author and Poet

Comenta algo

Publica!
No hay comentarios aún. ¡Conviértete en el primero en decir algo!
~